Salary से ना कटे ज्यादा Income Tax, इसके लिए जल्द-से-जल्द जमा कराएं ये दस्तावेज

0
22

नई दिल्ली: अगर आप नौकरी-पेशा हैं और आपकी सालाना सैलरी टैक्स में छूट की सीमा से ज्यादा है तो आप इस बात से अवगत होंगे कि कंपनियां जनवरी से ही आपकी सैलरी से ज्यादा TDS काटने लगती हैं। ऐसे में विभिन्न कंपनियों में दिसंबर-जनवरी से ही HR और अकाउंट्स सेक्शन आपसे इंवेस्टमेंट का साक्ष्य प्रस्तुत करने के लिए एक समयसीमा निर्धारित कर देते हैं। ऐसा इसलिए किया जाता है कि जिस राशि के लिए आप निवेश दिखाते हैं, उसे आपकी सैलरी से कटने वाले टीडीएस में समायोजित यानी एडजस्ट कर दिया जाता है।

उल्लेखनीय है कि Income Tax Act के तहत आपको हर साल एक सीमा तक निवेश पर टैक्स से छूट मिलती है। आम तौर पर आपको निवेश के लिए ULIPs, जीवन बीमा, स्वास्थ्य बीमा, ELSS mutual funds, PPF जमा, home loan, एजुकेशन लोन, ट्यूशन फीस, एलटीए और एचआरए से जुड़े साक्ष्य प्रस्तुत करने होते हैं। 

NEWS SOURCE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here